Related Articles

6 Comments

  1. Anonymous

    परमोत का किस्सा शानदार 80 के दशक का शहर बनता कस्बा आँखों के सामने जीवित हो जाता है

  2. Anonymous

    कहानी दिलचस्प है। गोदाम रहस्यमई प्रतित होता है ,खुल जा सिम सिम वाली कहानी की तरह, समापन वाले भाग में सभी पात्रों के वर्तमान का संक्षेप में विवरण की आशा।

  3. K s Rawat

    कहानी दिलचस्प है। गोदाम रहस्यमई प्रतित होता है ,खुल जा सिम सिम वाली कहानी की तरह, समापन वाले भाग में सभी पात्रों के वर्तमान का संक्षेप में विवरण की आशा।

  4. Anonymous

    अशोक दा. बेमानटी हो रई है ये. बत्तीस दिन गुज़ार दोगे तुम इसी में. पुराने वाले के reprint में. अगला कब छापोगे ?

  5. suraj p. singh

    बहुत ही मजेदार। पांचों हिस्से पढ़े। अब अगले का इंतजार है। काफल ट्री को लाख-लाख बधाई!

  6. Anonymous

    गजब की किस्स्गोई। पाचों हिस्से पढ़ लिए। अब अगले का इंतजार है। काफल ट्री को लाख-लाख बधाई!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

2019 Kafal Tree. All rights reserved. | Developed by Kafal Tree Team